Category: citylife

घड़ी की सुई

मेरा नाम पावनी है। घड़ी देख रहे हैं आप दीवार पर, ये मैं हूं, जैसे घड़ी की सुई की तरह मैं भी भाग रही हूं। बस मैं कभी घंटे और मिनट की सुई बन जाती हूं। कोई ख़ुशी नहीं बस घड़ी सा टिक- टिक…

मंजिल की चाह

Hindi poems

Litle life

This is Shafi Ulla, a knife sharpener vendor on bicycle. He is kind and jolly. He is 55 years old and working as knife sharpener from past 30 years. His origin is Andhra Pradesh, India. But he came Bangalore after his marriage in year…

Trust

Short Story on love and trust

%d bloggers like this:
%d bloggers like this:
%d bloggers like this:
%d bloggers like this: