Category: #quotes

Jindgi ki tapish

hard and tough Life

क्या लिखूं

सोचती हूं क्या लिखूं, अपने नाम के साथ तुम्हारा नाम लिखूं, बार बार श्याम लिखूं मुझे, तुम साथ रहो यह अरमान लिखूं, सोचती हूं क्या लिखूं, तुम को साथ साथ उड़ा कर ले चलूंं, तुमको बादल खुद को हवा लिखूं, छिप जाऊँ सांझ ढले…

क़दम

तल्ख़ सी जिंदगी

लम्हें तल्ख़ थे, जिंदगी के कतरे तल्ख़ थे, पलटे जब चौराहे पर, सारे रास्ते तल्ख़ थे, क़दम क़दम के फासले, मीलों का सफ़र थे, जिंदगी के तालुकात, हमसे तल्ख़ थे, सुर्ख गुलाब से खिलते थे जो जज़्बात, अब जज़्बातों के अंदाज़ तल्ख़ थे, अलहदा…

%d bloggers like this:
%d bloggers like this:
%d bloggers like this:
%d bloggers like this: